Google+ Badge

Friday, June 13, 2014

हो गया Bounce धर्मनिर्पेक्षता का चैक है !!

हो गया Bounce धर्मनिर्पेक्षता का चैक है !


क्या बताएं आशिक़ों-माशूक़ दोनों एक है 
आईने के सामने दिलबर खड़ा दिलफेंक है !

डाल कर तस्वीर दिलकश, दिल चुराए नेट पर 
Facebook पर हो रहे 'खाते' हमारे 'Hack' है। 

फेसबुक पर पंडित-ओ-मुल्ला है, बंधु, शेख भी 
फितरती है कौन इन में, कौन इन में नेक है  ?


'वास्ता' हो या 'वज़न',कुछ तो यहाँ दरकार है 
काम हो जाता है आसाँ , लग गया गर jack है। 

इन्तेज़ारो-आरज़ू में कट गए है 'चार दिन'
पूरी मुद्दत हो चुकी, सामान अपना 'पैक' है !

'फेंकू-फेंकू' कह के शक्ति में इज़ाफ़ा कर दिया 
फिंक गए सारे बिचारे, 'वह' तो 'ऑवर टेक' है !  

--mansoor ali hashmi 
Post a Comment