Google+ Badge

Thursday, April 3, 2014

PARLIAMENTRY ELECTION

प्रजातंत्र का ये त्यौहार !

बे ईमानो की जय-जयकार ,
अबकी तो "ख़ुद"  ही सरकार !     

'हाथ' कहीं तो 'कमलाकार',
'झाड़' फूँक भी है दरकार ।          

बांटना हो जिनका आधार 
कर दो उनका बंटाधार।               

कौन करे इनका उपचार,
एक अनार -ओ- सौ बीमार।         

विषय भूगोल हो या तारीख़,
बात करे है 'भेजामार' .               
====================

तिलक, तराज़ू या  तलवार,
किस, किसको मारे जूते चार ?       
'बाबर' की औलादो के भी 
बिसरादे, क्या अत्याचार ?

'स्याही' धोना सीख ले यार,
वोट करेंगे बारंबार,
बात नही कोई चिंता की,
संग है अपने 'शरद पवार'.            

कौन हो अपना तारणहार ?
जीत किसे दे; किसको हार ??
कथनी को करनी में जीता !
सादा जीवन उच्च विचार !!          
http://mansooralihashmi.blogspot.in
Post a Comment