Google+ Badge

Wednesday, July 10, 2013

Party with a Difference !











Party with a Difference !

करते थे बजट पेश अब खुद पेश हुए  है,
मंत्री थे कभी आज वो दरवेश हुए है,
अनैसर्गिक कुकृत्यों के अंजाम में यारों 
दूषित कईं ' मध्य के प्रदेश' * हुए है !     

 *शरीर के वस्ति इलाक़े 

mansoor ali hashmi 

Saturday, July 6, 2013

कैसा यह "घाव" लगा ?





कैसा यह "घाव" लगा ?

'अस्सी' के पार जाके ये अभ्यास किया है,

'नारी' के बिन भी 'काम' का प्रयास किया है,
नारी की अस्मिता की 'हिफाज़त' ही की खातिर,
'हेट्रिक' से ठीक पहले ही 'संन्यास' लिया है. 

'जोरू' तो साथ दे रही; 'ज़र'* तो चला गया !          *[वित्त मंत्रालय]
हाए ! ये अंतिम उम्र में कैसा गज़ब हुआ !!  

-- mansoor ali hashmi